Happy Father’s Day

पापा को शब्दो में बांधना समुंद्र को अंजलि में भरने समान है मेरे पिता का जीवन, प्रेरणा और दृढ़ निश्चय का स्तोत्र महान है चश्मे के पीछे उनकी वो आंखें बड़ी भोली भाली थी और व्यक्तित्व कि गहराई, कपट से बिल्कुल खाली थी आत्मा और सोच से बोहोत उजले और तन के सांवले थे सबको खुद सा अच्छा सच्चा समझते थे, कैसे बावले थे सरल आचरण, अखंड गुण और साधारण जीवन शैली थी उनकी प्रतिभा और गरिमा की गाथा दूर-दूर तक फैली थी उनके जीवन में बोहोत दुख, बोहोत कष्ट थे आशावादी थे, और इरादों के बिल्कुल स्पष्ट थे मेरे लिए तो वही आदि, वहीं अंत, वही अनंत थे मन, कर्म, वचन, धर्म से मानो कोई साधु संत थे तीखा पसंद था, समोसे बोहोत भाते थे Diabetes थी ना, मीठा कम ही खाते थे प्रभु भक्ति और काम में बराबर विलीन थे मूझपर वात्सल्य की वर्षा करते समय असीम थे मानवता, दया और सहानभूति का उच्च उदाहरण थे उनसा नहीं कोई पुत्र, पति और पिता, वो असाधारण थे उनके बारे में मैं जितना भी लिख डालू वो कम है और आज भी उनकी स्मृतियों से मेरी आंखें नम है बड़े मीठे, सुहाने, प्यारे प्यारे नामों से पुकारते थे वो मुझे और कभी कभी तो बस बैठे बैठे यूहीं निहारते थे वो मुझे जाते जाते वो मुझे विरासत में अपना सब कुछ दे गए पर अपने साथ वो मेरे अस्तित्व का एक टुकड़ा ले गए

#fathersday #father #papa #dad #yqbaba #yqdidi #yqhindi #missing Read my thoughts on @YourQuoteApp #yourquote #quote #stories #qotd #quoteoftheday #wordporn #quotestagram #wordswag #wordsofwisdom #inspirationalquotes #writeaway #thoughts #poetry #instawriters #writersofinstagram #writersofig #writersofindia #igwriters #igwritersclub https://www.instagram.com/p/CBrBjMGlJvI/?igshid=rfd3j9zbnzyn

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s